आ गए दिल्ली के अस्पताल में इलाज के नए नियम, साथ रखने होंगे ये पहचान पत्र

दिल्ली में हर दिन कोरोना के बढ़ते मरिजों को देखते हए दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला लिया है जिसके मुताबिक अब दिल्ली के बाहर के लोगों को यहां के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में इलाज नहीं मिलेगा. दिल्ली के अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का ही इलाज होगा. इसके लिए नई गाइडलाइंस भी जारी कर दी गई हैं.

दिल्ली सरकार की गाइडलाइंस

हालांकि ये कैसे पता लगेगा कि कौन दिल्ली का नागरिक है और कौन बाहरी? इसे लेकर दिल्ली सरकार ने सात तरीके बताए हैं जिनके जरिए आप प्रूफ दे सकते हैं कि आप दिल्ली के नागिरक हैं।

पहचान पत्र की लिस्ट

अब अगर आप दिल्ली के अस्पताल में इलाज कराने जा रहे हैं तो आपको नीचे दिए गए दस्तावेजों में से कम से कम एक अपने साथ ले जाना होगा. दिल्ली सरकार ने पहचान पत्र की जो लिस्ट जारी कि है उसमें ये दस्तावेज शामिल किये गए हैं।

  •  दिल्ली का वोटर आई कार्ड
  • 7 जून 2020 से पहले का आधारकार्ड
  • मरीज का राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, इनकम टैक्स रिटर्न, पासपोर्ट
  • किसान कार्ड, पोस्ट ऑफिस पासबुक
  • नए पानी, बिजली,टेलीफोन, गैस कनेक्शन बिल (मरीज या फिर उसके माता-पिता के नाम पर)
  • पोस्ट ऑफिस से प्राप्त किया हुआ कोई लेटर जिसमें मरीज के घर का पता हो
  • अगर कोई बच्चा है या नाबालिग है तो उसके माता-पिता के कागजात

कैबिनेट में लिया गया फैसला

कैबिनेट मे ये फैसला लिया गया कि दिल्ली सरकार के अधिकार क्षेत्र में आने वाले हॉस्पिटल और दिल्ली के प्राइवेट हॉस्पिटलों में ही ये व्यवस्था लागू होगी वहीं केंद्र सरकार के हॉस्पिटल जैसे एम्स, सफरदरजंग और राम मनोहर लोहिया में पहले की तरह सभी लोगों का इलाज हो सकेगा यहां देश भर से कोई भी इलाज के लिए आ सकेगा उस पर रोक नहीं होगी.

तेजी से बढ़ रहा कोरोना का ग्राफ

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा है कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली को जून के अंत तक 15 हजार कोविड बेड चाहिए होंगे। फिलहाल दिल्ली के पास 9 हजार बेड हैं और अगर हॉस्पिटल सबके लिए खोल दिए तो ये 9 हजार बेड तीन दिन में भर जाएंगे। केजरीवाल ने कहा कि 7.5 लाख लोगों ने उन्हें सुझाव दिए, जिसमें से 90 प्रतिशत ने कहा कि फिलहाल कोरोना-कोरोना तक दिल्ली से हॉस्पिटल दिल्लीवालों के लिए होने चाहिए।

दिल्ली के बॉर्डर खुले

सरकार ने दिल्ली के अस्पतालों के दरवाजे तो बाहरी लोगों के लिये बंद कर दिए हैं लेकिन आज यानी सोमवार से दिल्ली के सील बॉर्डर को खोल दिया गया है. इससे गाजियाबाद, नोएडा, गुड़गांव और फरीदाबाद के लोग आसानी से दिल्ली आ-जा सकेंगे। इसके साथ ही आज से दिल्ली में रेस्तरां, मॉल और धार्मिक स्थान खुल गए हैं लेकिन फिलहाल होटल और बैंकट हॉल अभी बंद ही रखे गए हैं.

You may also like...