मोदी पर प्रियंका गांधी का तंज, कहा- ‘सिर्फ बोलना काफी नहीं बुद्ध के विचारों पर अमल भी जरूरी’

बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर गुरुवार को सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को वीडियो कॉन्फिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए दया और करुणा का संदेश दिया लेकिन पीएम के संबोधन के कुछ ही घंटों के भीतर प्रियंका गांधी ने मोदी पर तंज कस दिया.

प्रियंका ने शेयर किया वीडियो

प्रियंका गांधी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है प्रवासी मजदूरों के इस वीडियो में गरीब और कामगार अपनी व्यथा बता रहे हैं अपने दुख तकलीफों को बयां कर रहे हैं. इस वीडियो को शेयर करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लिखा कि- ‘सिर्फ भगवान की बात दोहराना काफी नहीं, इस पर अमल भी कीजिए.‘

प्रियंका ने क्या कहा?

प्रियंका गांधी ने अपने ट्विटर पर एक निजी चैनल का वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि- ‘मजदूरों को गुजरात से यूपी लाया गया. पैसे भी वसूले गए. आगरा और बरेली जाने वालों को लखनऊ और गोरखपुर ले जाकर छोड़ा जा रहा है. आज बुद्ध पूर्णिमा का दिन है. बुद्ध की वाणी करुणा की वाणी थी. प्रवासी मजदूरों के साथ करुणा भरा व्यवहार हो और उन्हें सहारा मिले.’

प्रियंका गांधी यहीं नहीं रुकी उन्होंने आगे लिखा कि- ‘प्रवासी मजदूरों के साथ अच्छा व्यवहार करने का हमारा प्रयास होना चाहिए. सिर्फ भगवान की वाणी को दोहराना काफी नहीं है. सरकार को उस पर अमल करके दिखाना होगा और प्रवासी मजदूरों के साथ अच्छा व्यवहार करना होगा.’ हम आपको बता दें कि इस वीडियो में घर लौट रहे मजदूरों ने आरोप लगाया था कि रेल टिकट के बदले उनसे सरकार ने 690 रुपये लिए थे, जबकि एक पानी की बोतल, नमकीन और चार-चार लड्डू पूरे सफर के दौरान दिए गए.

पीएम मोदी ने क्या कहा था

बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर आयोजित एक वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि भारत आज बुद्ध के कदमों पर चलकर हर किसी की मदद कर रहा है, फिर चाहे वो देश में हो या फिर विदेश में, इस दौरान लाभ-हानि को नहीं देखा जा रहा है. हमारा काम निरंतर सेवा भाव से होना चाहिए, दूसरे के लिए करुणा-सेवा रखना जरूरी है.

सोनिया ने कहा था किराया देगी कांग्रेस

ये कोई पहला मौका नहीं है जब प्रवासी मुद्दे के मामले पर कांग्रेस ने सरकार को घेरा है इससे पहले भी प्रियंका और राहुल गांधी प्रवासी मजदूरों को मुद्दे को प्रमुखता से उठाते आए हैं सोनिया गांधी ने तो सरकार पर करारा हमला करते हुए मजदूरों को किराए का मुद्दा उठाकर अपने घरों को लौटने वाले कामगारों के रेल खर्च तक उठाने की बात कह दी थी जिस पर जमकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर तो चला ही, इस मुद्दे पर जमकर सियासत भी हुई.  

You may also like...