तजा खबर | अफगानिस्तान में राजनीतिक रैली में गोलीबारी, 27 लोगों की मौत

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल उस समय दहल गया जब एक राजनीतिक रैली के दौरान गोलीबारी शुरू हो गई। इस भयावह हमले में कम से कम 27 लोगों की मौत हो गई। रैली राजधानी के पश्चिमी हिस्से में चल रही थीं तभी फायरिंग शुरू हो गई।
अफगानिस्तान के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नसरत रहीमी ने कहा कि मृतकों में महिलाएं व बच्चे शामिल हैं और इसके अलावा करीब 30 लोग जख्मी हुए हैं। उन्होंने कहा कि मरने वालों की तादाद बढ़ सकती है।

यूएस-तालिबान समझौते के एक हफ्ते के भीतर बड़ा हमला

यूएस और तालिबान के बीच हुए समझौते के बाद यह सबसे बड़ा हमला है। हमले ने अफगानिस्तान की राजधानी के बेहद कड़ी सुरक्षा वाले इलाके में सुरक्षा की कमी को उजागर कर दिया है।अभी 29 फरवरी को अमेरिका और तालिबान के बीच अहम समझौते हुए। जिसके तहत 14 महीनों के अंदर विदेशी बलों की देश से वापसी होनी है।
वैसे तालिबान ने तत्काल हमले की जिम्मेदारी से इनकार किया है। हमला हाजरा जातीय समुदाय से आने वाले राजनेता अब्दुल अली माजारी की स्मृति में आयोजित एक समारोह पर किया गया। इस समुदाय के अधिकांश लोग शिया हैं। पिछले साल भी इस्लामिक स्टेट के एक समूह ने इसी समारोह में हमले का दावा किया था और मोर्टार से हमले करके कम से कम 11 लोगों की जान ले ली थी ।

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति ने हमले की निंदा की

राष्ट्रपति अशरफ गनी ने हमले की निंदा करते हुए इसे ‘‘मानवता के खिलाफ अपराध’’ करार दिया।
सूत्रों के मुताबिक समारोह में अफगानिस्तान के मुख्य कार्यकारी अब्दुल्ला अब्दुल्ला समेत देश के कई शीर्ष नेता शामिल हुए।

Report By Sarpat news

You may also like...