वर्चुअल रैली में शाह ने भरी हुंकार, बिहार चुनाव का हुआ शंखनाद!

कोरोना काल में रविवार को पहली बार कोई राजनीतिक रैली हुई। हालांकि कोरोना को देखते हुए वर्चुअल रैली की गई थी। जिसे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली से ही संबोधित किया।

दिल्ली से बिहार पर निशाना

बिहार के बीजेपी कार्यकर्ताओं और जनता को संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने मोदी सरकार के अब तक के कार्यकाल की उपलब्धियों को गिराया। जिसमें उन्होंने उज्ज्वला समेत तमाम योजनाओं के साथ कश्मीर से अनुच्छेद 370, तीन तलाक को खत्म करने का जिक्र भी किया। शाह ने बिहार के विकास के लिए किये केंद्र सरकार के उठाए गये कदमों की चर्चा करते हुए उसके लिए निर्गत राशि भी गिनाई।

बिहार और केंद्र सरकार की तारीफ के पुल बांधे

केंद्रीय गृह मंत्री ने कोरोना को लेकर केंद्र और बिहार सरकार के उठाये गए कदमों की चर्चा करते हुए दोनों सरकार की जमकर तारीफ की। प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए किये गये इंतजामों, उन्हें मदद राशि मुहैया कराने की चर्चा करने के साथ ही शाह ने देश के विकास में उनके योगदान का जिक्र भी किया। उन्होंने किसान-मजदूर समेत हर वर्ग के लिए केंद्र सरकार के फिक्रमंद होने की चर्चा करते हुए 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज के बारे में विस्तार से बताया।

लालटेन नहीं LED का है जमाना- शाह

इस वर्चुअल रैली को लेकर हालांकि शाह ने साफ किया कि इसका राजनीति या बिहार के विधानसभा चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन वो विपक्ष को निशाना बनाने से चूके भी नहीं। कोरोना काल में तेजस्वी यादव के बिहार से बाहर रहने से लेकर लालू-राबड़ी राज के दौरान बिहार की बदहाली पर भी उन्होंने खूब तंज कसे। मोदी सरकार पर सवाल उठाने को लेकर शाह ने कांग्रेस को भी उसके शासनकाल की याद दिलाते हुए जमकर कोसा। शाह ने बिहार में नीतीश कुमार की अगुवाई में विधानसभा चुनाव में एनडीए को दो तिहाई बहुमत मिलने की उम्मीद जताई है।

BJP ने किया बिहार चुनाव का शंखनाद

बता दें कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की पहली वर्षगांठ पर सरकार की उपलब्धियों को लोगों तक पहुंचाने के मकसद से प्रेस कॉन्फ़्रेंस और वर्चुअल रैली करने का फैसला लिया गया था। इसी के तहत केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने बिहार से वर्चुअल रैली की शुरुआत की। बिहार में इसी साल नवंबर में विधानसभा चुनाव होना है, लिहाजा शाह की इस वर्चुअल रैली को उस चुनाव के प्रचार का आगाज माना जा रहा है।

You may also like...