कोरोना की तीसरी लहर आएगी…जरूर आएगी! उसे कोई रोक नहीं सकता!

आज हिंदुस्तान समेत दुनिया के कई मुल्क में कोरोना वायरस मौत की सुनामी ला रही है। हालात दिन प्रतिदिन भयावह हो रहे हैं। शहर और महानगर से होते हुए कोरोना वायरस अब गांव की दहलीज पर भी दस्तक दे चुका है। 2020 में जहां कोरोना की पहली लहर बुजुर्गों के लिए खतरा बनी थी, वहीं दूसरी लहर युवा आबादी के लिए खतरनाक साबित हुई। विशेषज्ञों की मानें तो कोरोना की तीसरी लहर बच्‍चों के लिए जानलेवा साबित हो सकती है.

‘कोरोना की तीसरी लहर को कोई नहीं रोक सकता’

भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार के. विजय राघवन ने कहा है कि जिस तरह से संक्रमण फैला हुआ है, उसे देखते हुए कोरोना की तीसरी लहर आना तय है। स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने कहा, ”हमें ये नहीं पता है कि तीसरी लहर कब आएगी लेकिन हमें कोविड-19 के प्रोटोकॉल को जारी रखते हुए इसके लिए तैयार रहना चाहिए.’

तीसरी लहर की आशंका क्यों?

कोरोना वायरस लगातार अपना रूप बदलता रहा है। अब जब वैक्सीनेशन बढ़ेगा तो वायरस लोगों को संक्रमित करने का नया तरीका भी ढूंढेगा। ऐसे में कोविड-19 के नए वैरिएंट्स बन सकते हैं जो इम्युनिटी कवच को तोड़ने में सक्षम हो सकते हैं। दूसरी लहर के दौरान भी ऐसा देखा जा चुका है। जिन लोगों के शरीर में संक्रमण से ठीक होने के बाद कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडी बने या फिर वैक्सीन लेने के बाद इम्युनिटी डिवेलप हुई, उन लोगों को भी वायरस संक्रमित कर रहा है।

लगातार बदल रहे हैं कोरोना वायरस के वैरिएंट

आज पूरा देश कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है। इसका पीक कब आएगा और ये लहर कब खत्म होगी, ऐसे सवालों के बीच तीसरी लहर की आशंका भी गहरा गई है। जानकारों ने कहा कि कोरोना का नया संक्रमण भले ही बच्‍चों में किसी भी तरह की गंभीर समस्‍या पैदा नहीं कर रहा हो, लेकिन कोरोना की दूसरी लहर में बच्‍चे बीमार जरूर हो रहे हैं। पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर में मुंबई पुणे जैसे शहरों में बच्चें ज्यादा संक्रमित हुए हैं। ऐसे में अगर तीसरी लहर आई तो सबसे ज्‍यादा खतरा इन्‍हीं बच्‍चों को होगा।

कोरोना की तीसरी लहर मौजूदा लहर से खतरनाक होगी या नहीं, इस बारे में कुछ भी पक्के तौर पर नहीं कहा जा सकता। वैसे हमारे पास कोरोना की वैक्सीन है, अगर सही रणनीति के साथ तेजी से वैक्सीनेशन में हम कामयाब रहे तो तीसरी लहर शायद कम खतरनाक हो।

You may also like...