तेलंगाना ने फिर बढ़ाया लॉकडाउन, 29 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने वाला पहला राज्य बना

कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए तेलंगाना ने लॉकडाउन को 29 मई तक बढ़ा दिया है. हालांकि देश भर में 17 मई तक लॉकडाउन है लेकिन तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने मंगलवार को राज्य में लॉकडाउन की मियाद को 29 मई तक बढ़ाने के आदेश जारी कर दिये हैं. मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव के इस फैसले के बाद इस बात की चर्चा ने जोर पकड़ लिया है कि क्या केन्द्र सरकार भी आने वाले वक्त में लॉकडाउन की मियाद को बढ़ाएगी.

सरकार ने जारी की गाइडलाइन
तेलंगाना की केसीआर सरकार ने मंगलवार शाम इस  लॉकडाउन को लेकर एक विस्तृत  गाइडलाइन जारी करते हुए  इसकी शर्तों का जिक्र किया है। सरकार ने कहा है कि जो भी लोग जरूरी सामान की खरीद के लिए जाना चाहते हैं, वह 6 बजे तक अपने घरों में वापस लौट आएं क्योकि शाम 7 बजे से कर्फ्यू लगाया जाएगा । इसके अलावा सीएम ने यह भी कहा है कि प्रदेश में अगर कोई भी लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए पाया जाता है तो उसपर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सीएम ने दिए सख्ती के आदेश
लॉकडाउन के दौरान सीएम चंद्रशेखर राव ने पूरी सख्ती बरतने के निर्देश दिए हैं हालांकि लॉकडाउन के दौरान यहां भी कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी सभी जगह शराब की दुकानें खुली रहेंगी लेकिन इसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग पर पूरा जोर दिया जाएगा इतना ही नहीं बिना मास्क के यहां शराब और दूसरी चीजें नहीं मिलेंगी.

24 मार्च से जारी है लॉकडाउन
तेलंगाना देश का पहला ऐसा राज्य था, जिसने कि जनता कर्फ्यू के बाद अपने राज्य में कर्फ्यू लगाने का आदेश जारी किया था। इसके अलावा शुरुआती तौर पर सीएम ने पुलिस को कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों पर पूरी सख्ती की छूट भी दी थी। हम आपको बता दें कि तेलंगाना में 24 मार्च से लॉकडाउन जारी है.

तेलंगाना में मिले 1000 से अधिक केस
आंकड़ों पर गौर करें तो तेलंगाना में फिलहाल कोरोना के कुल 1085 केस सामने आ चुके हैं। हालांकि यहां 21 जिलों से कोरोना पूरी तरह खत्म भी हो चुका है यहां अब तक कोरोना से 25 लोगों की मौत भी हो चुकी है.

गाजियाबाद में 31 मई तक लॉकडाउन
हम आपको बता दें कि तेलंगाना से पहले यूपी के गाजियाबाद जिले में भी लॉकडाउन को 31 मार्च तक बढ़ा दिया गया. गाजियाबाद के जिलाधिकारी के निर्देश के मुताबिक, जिले में 31 मई 2020 तक किसी भी तरह के राजनैतिक, सांस्कृतिक, धार्मिक और खेल संबंधी आयोजन नहीं कराए जा सकेंगे। इसके अलावा रैली, प्रदर्शनी और जुलूस जैसे कार्यक्रम भी प्रतिबंधित रहेंगे। साथ ही लोगों के जमा होने पर भी रोक रहेगी। वैवाहिक कार्यक्रमों या अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए प्रशासन से पहले इजाजत लेनी होगी।

You may also like...