एन.एस विश्वनाथन ने छोड़ा RBI के डिप्टी गवर्नर पद, स्वास्थ्य कारणों से इस्तीफा

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के डिप्टी गवर्नर एन.एस विश्वनाथन ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने सेहत का हवाला देकर तीन महीने पहले ही रिटायरमेंट ले लिया हैं। वैसे वह तीन जुलाई को रिटायर्ड होने वाले थे। 58 साल के विश्वनाथन ने 1981 में आरबीआई में ज्वाइन किया। पहली बार 2016 में तीन साल के लिए रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर बनाए गए, पिछले साल जून में एक साल के लिए एक्सटेंशन मिला था।

पॉलिसी पर बेहतरीन पकड़

एन एस विश्वनाथन को बैंकों के रेगुलेशन एंड सुपरविजन का खासा अनुभव है। साथ ही उन्हें नॉन बैंकिंग फाइनेंस, कॉपरेटिव बैंक, डिपॉजिट इंश्योरेंस, करेंसी मैनेजमेंट और ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट में महारत हासिल है।

आर्थिक जगत से जुड़े लोगों का मानना है कि देश की घटती जीडीपी, बैंकों के विलय और महंगाई पर नियंत्रण की कोशिशों के अहम दौर के बीच विश्वनाथन का पद छोड़ना रिजर्व बैंक के लिए बड़ा झटका है।

टेंशन से इस्तीफा

सूत्रों के मुताबिक हाल ही में उन्हें टेंशन से जुड़ी कोई परेशानी हो गई थी,। जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें आराम करने की सलाह दी थी। इसी वजह से विश्वनाथन ने समय से पहले इस्तीफा दे दिया है।

यह ऐसा दौर है, जब आरबीआई को मॉनिटरिंग के लिए उनकी सेवाओं की काफी जरूरत थी।

You may also like...