क्या लॉकडाउन से तबाह हो जाएगा बॉलीवुड, महामारी के बीच मंडराया महामंदी का खतरा?

कोरोना के कारण ग्लोबल लॉकडाउन है फिल्म इंडस्ट्री भी अब तक की सबसे बड़ी बंदी और मंदी का सामना कर रही है हिंदुस्तान में सिनेमाघर बंद हैं, शूटिंग कैंसिल हैं ऐसे में बॉक्स ऑफिस की हालत भी बुरी है लेकिन सवाल ये है कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद क्या होगा, फिल्म इंडस्ट्री को कोरोना के कहर से उबरने में कितना वक्त लगेगा, सिनेमाघरों में कब फिर सीटियों की गूंज सुनाई देगी ?

लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी रहेगा असर

फिल्मी जानकारों की मानें तो लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी हाल फिलहाल सिनेमा के अच्छे दिन लौटते नज़र नहीं आ रहे इसकी कुछ वाजिब वजहें भी हैं पहला कारण तो यही है कि सिनेमाघर खुलने के बाद भी थियेटर को दर्शक मिलेंगे ऐसा यकीनी तौर पर नहीं कहा जा सकता बल्कि कोरोना के खतरे को देखते हुए लोगों का ज़ोर कुछ समय तक सोशल डिस्टेंसिंग पर ही होगा और सिनेमाघरों में जहां भीड़भाड़ होती है वहां सोशल डिस्टेंसिंग बनाना आसान नहीं जाहिर है लोग सिनेमाघर जाने से परहेज करेंगे.

बड़ी फिल्मों की रिलीज़ पर संशय

सिनेमाघरों में लोग तभी जाने का जोखिम उठाएंगे जब बड़ी फिल्में रिलीज होंगी और इस वक्त जो हालात हैं उनमें कोई भी बड़े बजट की फिल्म बनाने वाला निर्माता निर्देशक अपनी फिल्म रिलीज़ करने का रिस्क नहीं उठाएगा फिलहाल रोहित शेट्टी की भारी भरकम बजट वाली सूर्यवंशी और रणवीर सिंह की फिल्म 83 रिलीज़ के लिए तैयार है लेकिन डर और संशय के इस माहौल में लॉकडाउन खत्म होने के बाद ये फिल्में तब तक रिलीज नहीं होंगी जब तक कि हालात पूरी तरह से सामान्य नहीं हो जाते और हालात कब तक ठीक होंगे इसके बारे में कोई फिलहाल कुछ नहीं कह सकता.

वैश्विक बाज़ार में मंदी

हिंदुस्तानी फिल्में सिर्फ देश में ही रिलीज़ नहीं होती बल्कि इनका बाज़ार वर्ल्डवाइड होता है भारतीय फिल्में विदेशों में भी अच्छा कारोबार करती है लेकिन इस वक्त कोरोना का कहर 200 से ज्यादा देशों में है जगह-जगह लॉकडाउन है हर जगह जान बचाने की अफरा तफरी मची है कई देशों में तो मई के आखिर तक सबकुछ बंद कर दिया गया है ऐसे में सभी चीजों को वापस पटरी पर लौटने में काफी वक्त लग सकता है.

हालिया रिलीज़ फिल्मों पर दांव

इस बीच कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में ये भी कहा जा रहा है कि थियेटर्स ऑनर्स जनता की नब्ज पकडने के लिए लॉकडाउन खत्म होने के बाद उन फिल्मों को फिर से रिलीज करने की तैयारियां कर रहे हैं जो कोरोना की भेंट चढ़ गई इनमें टाइगर श्राफ की फिल्म बागी 3 है जो कोरोना की दस्तक से पहले अच्छा कारोबार कर रही थी लेकिन सिनेमाघर बंद होने के कारण 100 करोड़ तक भी नहीं पहुंच पाई. लॉकडाउन के बाद इरफान खान की फिल्म अंग्रेजी मीडियम को भी रिलीज़ किया जा सकता है क्योंकि इसकी रिलीज के सिर्फ एक ही दिन बाद कोरोना के कारण सिनेमाघरों को बंद करना पड़ा.

क्या फिल्मों को मिलेंगे दर्शक ?

हालांकि सवाल फिर वही है कि लॉकडाउन के तुरंत बाद अगर ये फिल्में रिलीज भी हो गई तो क्या दर्शक थियेटर आने के लिए तैयार होंगे. इन फिल्मों की दोबारा रिलीज़ के पीछे ये तर्क दिया जा रहा है कि इससे दर्शकों के मूड का पता लगा लगेगा और टिकट भी कम रेट पर होंगे तो शायद हो सकता है कि दर्शक भी सिनेमाघर की तरफ लौट आए लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं कहा जा सकता कि अगर आज सिनेमाघर खुल गए तो दर्शक कल फिल्म देखने पहुंच जाएंगे.

वेट एंड वॉच के अलावा कोई चारा नहीं

ऐसा पहली बार हुआ है कि सिल्वर स्क्रीन की पूरी दुनिया एक साथ शटडाउन हुई है हॉलीवुड और बॉलीवुड दोनों का ही बॉक्स ऑफिस कलेक्शन जीरो है दरअसल एक शून्य जैसी स्थिति बन गई है किसी के पास इसका जवाब नहीं है कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद आखिर क्या होगा. सबकुछ दर्शकों पर निर्भर है कि वो कब तक सिनेमाघर का रुख करता है फिलहाल सबकुछ अंधेरे में है बॉलीवुड के पास भी वेट एंड वॉच के अलावा कोई चारा नहीं है

You may also like...