जब एयर इंडिया को पाकिस्तान ने किया सलाम : कहा ‘अस्सलाम वालेकुम’ हमें आप पर गर्व है

कोरोना वायरस ने पूरे विश्व को दहशत में डाल रखा है ऐसे में तमाम खतरों के बावजूद भारत सरकार कोरोना से जंग में दूसरे देशों की लगातार मदद कर रही है । कोरोना के ख़ौफ़ के बावजूद एयर इंडिया के जांबाज़ पायलट यूरोपीय और दूसरे देशों के फंसे हुए नागरिकों को भारत से ले कर उन्हें अपने मुल्क में छोड़ रहे हैं ।

पाकिस्तान के कराची एयरपोर्ट ने कहा अस्सलाम वालैकुम

एयर इंडिया की इस जांबाजी और सेवा से प्रभावित कई मुल्क हैं । ऐसा ही एक अद्भुत और अप्रत्याशित नज़ारा बीते दिनों मिला जब एयर इंडिया का एक स्पेशल फ्लाइट कुछ नागरिकों और राहत सामग्री के साथ जर्मनी के शहर फ्रैंकफर्ट जा रहा था । स्पेशल फ्लाइट के पायलट ने कहा जब हमने पाकिस्तान के हवाई मार्ग में प्रवेश किया तभी कराची के एयर ट्रैफिक कंट्रोलर ने कहा ” अस्सलाम वालैकुम ! कराची एटीसी , एयर इंडिया के विशेष विमान का स्वागत करता है जो इस वक़्त राहत अभियान पर फ्रैंकफर्ट जा रहा है ।”

हमें एयर इंडिया पर गर्व है, GOOD LUCK

पाकिस्तान के एयर ट्रैफिक कंट्रोलर ने कहा, हमें आप पर गर्व है कि इस वैश्विक महामारी के वक़्त में आप लोगों की मदद कर रहे हैं , गुड लक । ज़वाब में भारतीय पायलट ने भी उनको शुक्रिया कहा ।

एयर इंडिया स्पेशल फ्लाइट की जानकारी ली

इससे पहले कराची एयर ट्रैफिक कंट्रोलर ने भारतीय पायलट से फ्लाइट की जानकारी मांगते हुए कहा, कन्फर्म करें कि आप फ्रैंकफर्ट के लिए राहत उड़ानों का संचालन कर रहे हैं । फिर भारतीय दल ने इसकी पुष्टि की और कराची एटीसी को धन्यवाद दिया ।

ईरान भी प्रभावित हुआ , कहा ऑल द बेस्ट

एयर इंडिया के काम से ईरान भी प्रभावित हुआ जब उसने अपने एयर स्पेस से सीधा रास्ता इस भारतीय उड़ान को दिया । जबकि ईरान अपने एयर स्पेश से किसी दूसरे देश को सीधा रास्ता नहीं देता है । वह इसका इस्तेमाल सिर्फ अपने सैन्य और सुरक्षा ज़रूरतों के लिए करता है । इससे पहले जब ईरानी एटीसी का राडार एयर इंडिया के पायलट को नहीं मिल रहा था तब फिर उसने कराची एटीसी से मदद मांगी । पाकिस्तानी एटीसी ने तुरंत ईरान से सम्पर्क कर एयर इंडिया की मदद की । एयर इंडिया के पायलट ने कहा जब हम सुरक्षित निकल गए तब ईरानी एटीसी ने भारतीय पायलट को कहा आल द बेस्ट ।

एयर इंडिया के पायलट बोले यह अद्भुत था

इस पूरे अभियान के दौरान कई देशों से मिले ऐसी मदद को एयर इंडिया के पायलटों ने अद्भुत और अविस्मरणीय बताया । पायलट ने कहा कि अपने पूरे कैरियर के दौरान ऐसा मामला कभी नहीं आया जब ईरान ने 1000 मील का सीधा रास्ता दिया हो । यह वाकई अविश्वसनीय था ।

बता दें कि कोरोना वायरस से निबटने के लिए भारत मे 14 अप्रैल तक कम्प्लीट लॉकडाउन है और कई देशों के नागरिक भारत में अभी भी फंसे हुए हैं ।

You may also like...