दंगे के ख़ौफ़ से US में शटर डाउन!, 50 लाख बंदूकों से तबाही की साज़िश

अमेरिका में रहने वाले लोगों को एक बार फिर से अनहोनी का डर सता रहा है। पुलिस कस्टडी में जॉर्ज फ्लायड की मौत के बाद भड़के दंगे की आग ने लोगों के मन में इतना डर पैदा कर दिया है कि 50 लाख से ज्यादा बंदूकों की खरीद बिक्री हो चुकी है।

चुनाव से पहले रिकॉर्ड बंदूकों की बिक्री

पेंसिल्वेनिया, मिशिगन जैसे स्विंग वोटर्स वाले राज्यों में आर्म्स सेल ज्यादा हुई है। गन खरीदने वाले 50 लाख लोगों का दावा है कि उन्होंने पहली बार बंदूक खऱीदी है। एक रिपोर्ट के मुताबिक बंदूकों की ब्रिकी में 80 फीसदी का इजाफ़ा दर्ज किया गया है।

चुनाव नतीजे के बाद दंगे की आशंका

अमेरिका में अनहोनी और गड़बड़ी की आशंका की वजह है राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे। अमेरिका में अभी काउंटिंग जारी है, लेकिन दोनों पार्टियों के समर्थकों के बीच कई जगहों पर भिड़ंत होने की खबरें भी आने लगी है। अमेरिका में हिंसा की इसी आशंका ने लोगों को बेचैन कर दिया है। मतलब जीत चाहे ट्रंप की हो या फिर बाइडेन की नुकसान आम अमेरिकी अवाम का होगा।

व्हाइट हाउस की सुरक्षा और हुई तगड़ी

सिर्फ अवाम ही नहीं अमेरिकी हुक्मरान और पावर सेंटर्स भी अनहोनी के खौफ में है। व्हाउट हाउस तक की लोहे की बाड़ से किलेबंदी कर दी गई है। व्हाइट हाउस के करीब अमेरिकी मंत्रालय के बाहर भी कांच पर प्लाईबोर्ड लगाया गया है।

अमेरिका में कौन दंगे की साजिश रच रहा ?

दरअसल सोशल मीडिया पर चुनाव नतीजे आने के बाद बड़ी संख्या में हिंसा होने की आशंका जताई जा रही है।इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि पोस्टल बैलेट से चुनाव होने की वजह से चुनावी नतीजे आने में देरी हो सकती है। ऐसे में रिपब्लिकन्स और डेमोक्रेट्स दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की आशंका है। जिनमें हाल ही में खरीदे गए हथियारों का इस्तेमाल हो सकता है

You may also like...