सुनील जोशी बने चीफ सेलेक्टर, अनुभव पर जोनल पॉलिसी भारी

बाएं हाथ के पूर्व लेग स्पिनर सुनील जोशी टीम इंडिया के नए चीफ सलेक्टर बनाए गए है। जोशी, एमसके प्रसाद की जगह लेंगे, उनका कार्यकाल इसी साल जनवरी में ही पूरा हुआ था। BCCI की सलाहकार समिति ने 15 टेस्ट खेलने वाले पूर्व स्पिनर सुनील जोशी को टीम इंडिया का नया चीफ सिलेक्टर चुना हैकि। जोशी की टीम में 3 टेस्ट खेलने वाले हरविंदर सिंह को भी शामिल किया गया है। दोनों का कार्यकाल एक साल के लिए होगा। हरविंदर सिंह सेंट्रल जोन से हैं और वे गगन खोड़ा का स्थान लेंगे।इसके अलावा देवांग गांधी, सरनदीप सिंह और जतिन परांजपे भी चयन समिति का हिस्सा होंगे।

जोनल पॉलिसी से अनुभव की अनदेखी

दरअसल वेंकटेश प्रसाद को चीफ सेलेक्टर के लिए मौका ना मिलने पर सवाल उठ रहे हैं। शॉर्ट लिस्ट किए गए पांच उम्मीदवारों में सबसे ज्यादा 33 टेस्ट खेलने वाले वेंकटेश प्रसाद को मौका नहीं मिला जबकि जोशी और हरविंदर सिंह ने उनके मुकाबले काफी कम टेस्ट में देश का प्रतिनिधित्व किया है। वहीं वेंकटेश टीम इंडिया के बॉलिंग कोच के साथ जूनियर चयन समिति में भी रह चुके हैं। साथ ही उन्होंने 33 टेस्ट और 161 वनडे खेले हैं।

चीफ सेलेक्टर की रेस में कौन-कौन था?

BCCI की एडवाइजरी समिति में मदनलाल , आरपी सिंह और सुलक्षणा नाइक शामिल थे। चीफ सेलेक्टर की रेस में वेंकटेश प्रसाद और लक्ष्मण शिवरामकृष्णन भी शामिल थे। इस पद के लिए इन दोनों के साथ कुल 44 पूर्व क्रिकेटर्स ने आवेदन किया था। जिन लोगों ने आवेदन किए थे, उनमें एक नाम पूर्व तेज गेंदबाज अजित अगरकर का भी था।

हस्तक्षेप से इनकार

एडवाइजरी समिति के सदस्य मदनलाल ने साफ किया कि बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली का इसमें कोई हस्तक्षेप नहीं था। उन्होंने सेलेक्टर चुनने के लिए सीएसी को पूरी आजादी दी थी।

नए सेलेक्टर की पहली परीक्षा जल्द

न्यूजीलैंड में टीम इंडिया की शर्मनाक हार के बाद 12 मार्च से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज शुरू हो रहा है। नई भारतीय टीम का ऐलान अब जोशी की अध्यक्षता में किया जाएगा। भारत को होम ग्राउंड पर साउथ अफ्रीका से 3 वनडे की सीरीज खेलनी है।

You may also like...