बिहार: PMCH के 8 डॉक्टर सस्पेंड, कोरोना वार्ड में ड्यूटी से इनकार करने पर कार्रवाई

कोरोना वायरस का खौफ पसरता ही जा रहा है। चाहे वो आम लोग हैं या फिर कोरोना वॉरियर्स। बिहार की राजधानी पटना में PMCH के 8 डॉक्टरों ने कुछ ऐसा ही किया। जिसका खामियाजा भी उन्हें भुगतना पड़ा। दरअसल रेडियोलॉजी विभाग के 8 पीजी छात्रों ने कोरोना वार्ड में ड्यूटी करने से इंकार कर दिया। जिसके बाद सभी आठों छात्रों को सस्पेंड कर दिया गया।

सीनियर डॉक्टरों से धक्का-मुक्की का भी आरोप

PMCH के अधीक्षक डॉ बिमल कुमार कारक ने बताया कि रेडियोलोजी विभाग में मास्टर्स के 8 छात्रों के हंगामा करने और कोविड-19 के मरीजों के लिए बने विशेष वार्ड में काम करने से इनकार करने का आरोप है। आरोप ये भी है कि PMCH के आइसोलेशन वार्ड में ड्यूटी लगने पर रेडियोलॉजी विभाग के आठ जूनियर डॉक्टरों ने मेडिसीन विभाग के सीनियर डॉक्टरों के साथ बदतमीजी की और ड्यूटी करने से इनकार कर दिया था। जिसके बाद उन्हें सस्पेंड करने का फैसला लिया गया।

गलती का एहसास होने पर मांगी माफी

रेडियोलोजी विभाग में पीजी के 8 छात्रों की ओर से बदसलूकी के बाद PMCHके सीनियर डॉक्टरों ने इसकी शिकायत पीएमसीएच अधीक्षक से की और कार्रवाई की मांग की। साथ ही कहा कि जब तक इन जूनियर डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाती है, तब तक वो लोग ड्यूटी नहीं करेंगे। इसके बाद पटना मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य और पीएमसीएच अधीक्षक ने संयुक्त रूप से आठों जूनियर डॉक्टरों को सस्पेंड करने का आदेश जारी किया।

सस्पेंड के बाद भी नहीं मिली राहत

सस्पेंड टाइम पीरियड के दौरान सभी आठों जूनियर डॉक्टरों की ड्यूटी आइसोलेशन वार्ड और फ्लू कॉर्नर पर ही लगाई गई है। निलंबन के बाद जूनियर डॉक्टरों को मिलने वाली छात्रवृत्ति पर भी रोक लगाने का फैसला लिया गया है।

सस्पेंड होने वाले डॉक्टरों के नाम

  • डॉ. जान
  • डॉ. कृष्ण कुमार ठाकुर
  • डॉ. रवि रंजन
  • डॉ. संदीप कुमार
  • डॉ. तरुण कुमार
  • डॉ. सुभाष कुमार
  • डॉ. पवन कुमार
  • डॉ. चंद्रभूषण सिंह

अब सरकार निलंबन पर करेगी फैसला

सस्पेंशन ऑर्डर जारी होने के बाद आठों पीजी डॉक्टरों ने अधीक्षक चैंबर में जाकर माफी मांगी। हालांकि अधीक्षक ने साफ कह दिया कि आदेश की कॉपी स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव को भेजी जा चुकी है। अब वही निर्णय लेंगे।

You may also like...