कोरोना की भेंट चढ़ा विंबलडन टेनिस टूर्नामेंट, 143 साल के इतिहास में तीसरी बार हुआ रद्द

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर खेलों पर भी पड़ रहा है । कोरोना की वजह से विंबलडन ग्रैंड स्लैम टेनिस टूर्नामेंट रद्द कर दिया गया है। सेकेंड वर्ल्ड वार के बाद पहली बार सबसे पुराना ग्रैंड स्लैम टेनिस टूर्नमेंट रद्द किया गया है। विंबलडन से पहले टोक्यो ओलम्पिक गेम्स को एक साल के लिए टाल दिया गया था जबकि फ्रेंच ओपन टेनिस मई की जगह सिंतबर में होगा ।

ऑल इंग्लैंड क्लब ने किया फैसला

ऑल इंग्लैंड क्लब की इमरजेंसी मीटिंग के बाद यह घोषणा की कि इस साल  विंवलडन टूर्नमेंट नहीं खेला जाएगा। COVID-19 की वजह से विंवलडन के आयोजकों को यह फैसला लेना पड़ा। आयोजकों का कहना है कि बिके टिकट के पैसों को लौटाया जाएगा। इस साल 29 जून से 12 जुलाई तक यह टूर्नामेंट खेला जाना था।

तीसरी बार टला विंवलडन

आइए आपको बता दें कि कब-कब विंबलडन स्थगित हुआ। यह टूर्नामेंट पहली बार 1877 में खेला गया और उसके बाद से हर साल होता आया है। दो बार यह टूर्नामेंट टला है। पहली बार पहले विश्व युद्ध की वजह से 1915 से 1918  तक और  दूसरी बार 1940 से 1945 के बीच दूसरे विश्व युद्ध के दौरान यह टूर्नामेंट नहीं खेला गया। वहीं तीसरी बार COVID 19 की वजह से इसे रद्द कर दिया गया है ।

CORONA EFFECT : ओलंपिक गेम्स एक साल के लिए स्थगित, शिंजो आबे के प्रस्ताव पर IOC की सहमति

फेडरर और सेरेना शायद ही विंवलडन कोर्ट में खेलें

रोजर फेडरर और सरेना विलियम्स अगले साल यानी 2021 तक 40 साल के हो जाएंगे । ऐसे में देखा जाए तो दोनों प्लेयर के अगले साल विंबलडन खेलने की संभावना काफी कम है जबकि वीनस विलियम्स 41 वर्ष की हो जाएंंगी। रोजर फेडरर विंबलडन को आठ बार जीत चुके हैं । वहीं पिछले साल फाइनल में हालेप से हारने वाली सेरेना के नाम पर अभी 23 ग्रैंड स्लैम खिताब हैं । सेरेना को मारग्रेट कोर्ट के रिकॉर्ड की बराबरी के लिए एक खिताब जीतने की जरूरत है। जो की अभी पूरा होता नहीं दिख रहा है ।

You may also like...