एक्ट्रेस सना सईद को मिला कभी ना भूलने वाला दर्द, पिता के अंतिम दर्शन का रहेगा मलाल, पढ़ें पूरी ख़बर

बॉलीवुड की मशहूर फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’, ‘हर दिल जो प्यार करेगा’ और ‘बादल’ में चाइल्ड आर्टिस्ट का रोल निभाने वाली सना सईद को लॉकडाउन में कभी ना भूलने वाला दर्द मिला है।

सना सईद ने हाल ही में अपने पिता को हमेशा-हमेशा के लिए खो दिया है और सबसे ज्यादा दुख इस बात का है कि वो अपने पिता को आखिरी बार देख भी नहीं सकी।

दरअसल जनता कर्फ्यू वाले दिन सना सईद के पिता और उर्दू कवि अब्दुल अहद सईद का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। उस वक्त सना अपने पिता से हजारों किलोमीटर दूर अमेरिका के लॉस एंजेलिस शहर में थी। भारत में जब लॉकडाउन हुआ तो सना लॉस एंजेलिस में फंस गई। जिसके कारण वो अपने पिता अब्दुल अहद सईद के अंतिम दर्शन नहीं कर पाईं।

लॉकाउन की वजह से जहां ज्यादातर लोग अपने घरों में बंद हैं, करोड़ों लोगों को अपने काम पर जाने से ब्रेक मिला है। सब अपने परिवार के साथ टाइम स्पेंड कर रहे हैं वहीं सना के लिए ये दुख वाली घड़ी है।

अंग्रेजी अखबार हिन्दुस्तान टाइम्स से बातचीत में सना सईद ने कहा, “मेरे पापा शुगर पेशेंट थे, और इस वजह से उनके कई अंग फेल हो गए थे। लॉस एंजेलिस में मुझे जब उनकी मौत की खबर मिली तो मैं उस समय अपने घर आकर अपनी मां और बहन को गले लगाना चाहती थी। जिन हालात में मैंने अपने पिता को खोया, वो बेहद दर्दनाक है।”

अपने पिता के अंतिम संस्कार के बारे में बात करते हुए सना ने बताया कि जनता कर्फ्यू के दिन जब उनके पिता का निधन हुआ तो घरवालों ने उसी दिन उनका अंतिम संस्कार करने का फैसला किया। इस सब के लिए सिर्फ तीन घंटा था। जनता कर्फ्यू था तो अंतिम संस्कार के लिए जाते वक्त पुलिस ने परिवार को रोका, लेकिन फिर जब घरवालों मे पुलिस को डेथ सर्टिफिकेट दिखाया तो उन्होंने जाने की इजाजत दे दी।

फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ में सना ने बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट अंजलि नाम की बच्ची का किरदार निभाया था। इस किरदार में वो खासा लोकप्रिय हुईं थी। साल 2012 में आई फिल्म ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ में भी सना नजर आई थीं।

You may also like...