दिल्ली में एलजी के दफ्तर में कोरोना विस्फोट, एक साथ 13 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए

अनलॉक 1.0 के दौरान दिल्ली में अब जिंदगी सामान्य हो चली है। सड़कों का सन्नाटा गायब हो गया है। बाजारों में भी पहले जैसी चहल-पहल नजर आ रही है लोग दफ्तर जा रहे हैं। लेकिन इन सब छूट के साइड इफेक्ट भी नजर आने लगे हैं।

एलजी दफ्तर में 13 कोरोना संक्रमित

दिल्ली में कोरोना वायरस उपराज्यपाल अनिल बैजल के दफ्तर तक पहुंच गया है। दिल्ली के उपराज्यपाल के दफ्तर में 13 लोग कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद हड़कंप मच गया है. हम आपको बता दें कि बीते शुक्रवार को एलजी के दफ्तर में चार लोगों को कोरोना की पुष्टि हुई थी जिसके बाद सभी कर्मचारियों की कोरोना जांच कराई गई थी.

दिल्ली में आंकड़ा 20 हजार के पार

इस बीच दिल्ली में कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ती जा रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक मंगलवार की सुबह तक दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 20 हजार को पार कर गया अभी दिल्ली में कुल 20,834 लोग संक्रमित हैं। दिल्ली में 50 और मौत की पुष्टि की गई है और अब मरने वालों की संख्या 523 हो गई है।

कम पड़ने लगे अस्पताल

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के मरीजों की संख्या एक हजार से कुछ कम 990 के करीब रही. कोरोना के लगातार बढ़ रहे मरीजों को देखते हुए सरकार बेड के इंतजाम करने में जुटी है. इस कड़ी में दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने सभी जिलाधिकारियों से ऐसी जगहों की पहचान करने को कहा है जहां कोरोना मरीजों के लिए अतिरिक्त बेड लगाए जा सकें। बड़े -बड़े हॉल और इन डोर स्टेडियम जैसी जगहों को प्राथमिकता देने को कहा गया है।

रेलवे का आइसोलेशन कोच तैनात
दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले हर रोज रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं लिहाजा हालात से निपटने के लिए दिल्ली सरकार को अब रेलवे के आइसोलेशन कोच तैनात करने पड़ रहे हैं. रेलवे आइसोलेशन कोच से दिल्ली को तुरंत 160 बेड का कोविड अस्पताल मिल गया है। दिल्ली सरकार ये पहले ही साफ कर चुकी है कि अब दिल्ली के अस्पतालों में बाहरी लोगों का इलाज नहीं किया जाएगा इतना ही नहीं अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार लोगों से भी यही अपील कर रहे हैं कि कोरोना को घर में ही सेल्फ क्वारंटीन से हराया जा सकता है.

अंतिम संस्कार की जगह भी कम

दिल्ली में कोरोना वायरस से लगातार मौतें हो रही हैं, इसके कारण अब प्रशासन को अंतिम संस्कार के लिए जगह की भी चिंता सताने लगी है। दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने रिहायशी इलाकों से अलग अंतिम संस्कार के लिए जमीन भी पता लगाने को कहा है।

You may also like...