CORONA BREAKING : निर्दयी कोरोना का नवजात पर हमला, दूधमुंहे को दबोचा

अभी वो महज 7 दिन का है । अभी वह मां भी नहीं बोल पाता है । वो अपनी आंखें भी नहीं खोल पाता है । लेकिन दुनियाभर में कहर बना कोरोना वायरस ने उस मासूम को धर दबोचा है। उस दूधमुंहे को उसकी मां से अलग कर दिया है । जिसे मां की गोद में होना चाहिए वो अस्पताल के बेड पर पड़ा है । जिसे मां अपने सीने से लगाए रहती, उस मासूम को आइसोलेशन में रहना पड़ रहा है ।

जी हां, कोरोना का ऐसा ही कहर है । इसका आतंक ऐसा है कि कब, कहां और कैसे ये अपना शिकार बना ले कोई नहीं जानता । ना तो ये उम्र देखता है और ना मजहब । सामने आने पर तो दबोचता ही है दबे पांव भी हमलावर है। इस वायरस का कैरियर कौन है ? इसकी जानकारी भी सही-सही नहीं है। लेकिन ये अब तक करीब पचास हजार लोगों की जान ले चुका है । कोरोना ने भारत में करीब दो हजार लोगों को संक्रमित कर दिया है जबकि पचास लोगों की मौत हो चुकी है । इस COVID -19 ने नन्हे मासूम को भी बीमार कर दिया है।

नवजात पर कोरोना की काली छाया

कोरोना नजतात बच्चे को भी नहीं छोड़ रहा है । मुबई में महज सात दिन का मासूम तीन दिन पहले कोरोना पोजिटिव पाया गया है । शायद यह देश का सबसे नन्हा कोरोना का मरीज है । दरअसल इसकी मां मुंबई के चेंबूर में एक अस्पताल में डिलिवरी के लिए एडमिट हुई थी उसी अस्पताल में मां और मासूम दोनों कोरोना से इंफेक्टेड हो गए । जब टेस्ट हुआ तो दोनों पोजिटिव पाएं गए । यहां हम आपको बता दें कि 26 मार्च को बच्चे का जन्म हुआ और जन्म के तीन बाद टेस्ट होने पर मां-बेटा दोनों पोजिटिव पाए गए ।

अस्पताल की बड़ी लापरवाही

आइए अब आपको बताते हैं कि नवजात और उसकी मां कोरोना से कैसे संक्रमित हुए । चेंबूर में जिस प्राइवेट अस्पताल में महिला को डिलिविरी के लिए भर्ती कराया गया, बताया जा रहा है कि उस बेड पर कोरोना पोजिटिव मरीज था । इसी वजह से महिला और उसका बच्चा दोनों संक्रमित हो गए । लिहाजा इस मामले में अस्पताल की लापरवाही सामने आ रही है। इसके बाद दोनों को कुर्ला के भाभा हॉस्पीटल में शिफ्ट किया गया लेकिन फिलहाल COVID-19 इंफेक्टेड मां और बेटे को कस्तुरबा हॉस्पीटल में भर्ती कराया गया है । वहीं परिवार का आरोप है कि कोई भी Paediatrician बच्चे और मां को देखने नहीं पहुंचा है। ऐसी खबर है कि बीएमसी ने चेंबूर के प्राइवेट हॉस्पीटल साई को बंद कर दिया है ।

दुनियाभर में मासूमों से कोरोना की दरिंदगी

अब आपको बताते हैं कैसे कोरोना दुनिया में मासूम पर कहर बरपा रहा है । यूएस में COVID-19 की वजह से डेढ़ महीने के बच्चे की मौत हो गई। अमेरिका में इस महामारी से मरने वाला यह सबसे कम उम्र का अमेरिकी बच्चा है । इस नवजात को पिछले हफ्ते एक अस्पताल में एडमिट कराया गया था लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। वहीं पिछले हफ्ते 9 माह के मासूम की मौत शिकागो में हुई थी जबकि  नेशविले में भी 2 महीने के नवजात की जान कोरोना वायरस से हो चुकी है । चीन में भी एक 11 महीने का एक मासूम कोरोना पोजिटिव पाया गया था ।

You may also like...