उत्तर प्रदेश: घर में आया नन्हा मेहमान, नाम रखा लॉकडाउन

हिंदुस्तान इस वक्त 21 दिनों के लॉकडाउन में है। देश भर में कोरोना वायरस के खतरे से निपटने और मदद के मुहिम के बीच खुशखबरी भी दस्तक दे रही है। यूपी के देवरिया में एक नन्हे मेहमान का जन्म परिवार में खुशिया ले कर आया।

28 मार्च को ‘लॉकडाउन’ का जन्म

लॉकडाउन के चौथे दिन बच्चे का जन्म हुआ। इस मौके पर बच्चे के माता-पिता ने उसका नाम लॉकडाउन रख दिया। बच्चे के माता-पिता का कहना है कि लॉकडाउन नाम रखने के पीछे का मकसद है कि लोग प्रेरणा लें और कोरोना वायरस के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अभियान को सफल बनाएं।

देवरिया में आया नन्हा ‘लॉकडाउन’

देवरिया के खुखुंदू गांव के रहने वाले पवन कुमार की पत्नी नीरजा ने 28 मार्च को गांव के ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर बच्चे को जन्म दिया। कोरोना वायरस से दहशत के माहौल के बीच परिवार में अच्छी खबर आई। जिसके बाद माता-पिता ने अपने नवजात बेटे का नाम लॉकडाउन रखने का फैसला लिया।

लोगों को जागरूक करने के लिए रखा नाम

पवन कुमार और उनकी पत्नी नीरजा कहना है कि कोरोना वायरस जैसी बीमारी से बचाव के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो फैसला लिया है, वो देश हित में है। लिहाजा हर किसी को लॉकडाउन का समर्थन करना चाहिए।

गांव वालों से मिल रही तारीफ

नवजात लॉकडाउन की मां नीरजा का कहना है कि पहले तो गांव वालों ने उनके फैसले का मजाक उड़ाया लेकिन बाद में लोगों ने वाहवाही भी शुरू कर दी। लॉकडाउन के पिता पवन कुमार ने कहा कि जिस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना महामारी से जंग में अपने को पूरी तरह समर्पित कर दिया है। ऐसे में उनका बच्चा पीएम मोदी के अभियान की सफलता का प्रतीक है। उनके अभियान को सफल बनाना हम सबका भी मकसद होना चाहिए।

You may also like...