ऋषि कपूर के निधन से पाकिस्तान भी गमग़ीन, ‘हिना’ को याद आए ‘वो लम्हे’

एक्टर ऋषि कपूर अब हमारे बीच नहीं है लेकिन उन्हें श्रद्धांजलि देने का सिलसिला लगातार चल रहा है. पाकिस्तान में भी ऋषि कपूर के निधन के बाद ग़म का माहौल है. पाकिस्तान की फिल्म इंडस्ट्री समेत तमाम नामचीन खिलाड़ियों ने भी दिवंगत अभिनेता को श्रद्धांजलि दी है.  

हिना को याद आया चांद

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को राजकूपर की देन और फिल्म हिना में ऋषि कपूर के साथ मुख्य भूमिका निभा चुकी पाकिस्तानी एक्ट्रेस ज़ेबा बख्तियार ने ऋषि कपूर को याद करते हुए कहा कि उनके बिना जीवन की कल्पना मुश्किल लग रही है.

जेबा ने क्या कहा ?

जेबा बख्तियार ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर फिल्म हिना में ऋषि कपूर के निभाए गए किरदार की एक फोटो शेयर की है और लिखा है कि- “मेरे मेंटोर , मेरी प्रेरणा, मेरे दोस्त, मेरे परिवार का हिस्सा, मैं तुम्हारे बगैर जीवन की कल्पना भी नहीं कर पा रही चिंटू. दूसरी दुनिया में तुम्हें सबसे बेहतरीन आशीर्वाद मिले. तुम उसी जिंदादिली , जोश और ईमानदारी से घिरे रहो जिसके लिए तुम जाने जाते थे. “

पिता का सपना पूरा किया था

हम आपको बता दें कि हिना फिल्म राजकपूर का ड्रीम प्रोजेक्ट था जिसकी शुरुआत करने के कुछ ही दिनों के बाद राजकपूर का देहांत हो गया था. तब राजकपूर के इस सपने को पूरा करने की जिम्मेदार उनके बेटों ने उठाई थी और रणधीर कपूर ने इस फिल्म का निर्देशन किया था जबकि ऋषि कपूर ने जबरदस्त एक्टिंग करके फिल्म को कामयाबी के नए शिखर पर पहुंचाकर अपने पिता का अधूरा ख्वाब पूरा किया था.

राहत फतेह अली ने याद किया

कपूर परिवार की खानदानी हवेली पाकिस्तान में है ऋषिकपूर एक बार पाकिस्तान भी जाना चाहते थे लेकिन ऐसा हो ना सका लिहाजा उनके चले जाने से पाकिस्तान में भी गम है राहत फतेह अली खान ने भी पुराने दिनों को याद करते हुए लिखा है कि- ‘मेरे चाचा नुसरत फतेह अली खान और पिता फरूख फतेह अली खान को ऋषि कपूर की शादी में परफॉर्म करने के लिए खास तौर से बुलाया गया था. हमारे परिवारों के बीच पीढ़ियों का रिश्ता है, नीतू जी और रणबीर के लिए हार्दिक संवेदना.

क्रिकेटर्स ने दी श्रद्धांजलि

ऋषि कपूर को वकार यूनिस और शोएब अख्तर जैसे पूर्व क्रिकेटर्स ने भी श्रद्धांजलि दी है. शोएब अख्तर ने ऋषि कपूर की तस्वीरें पोस्ट करते हुए लिखा है कि-‘ आप अपने साथ एक युक को इसके तमाम रंगों के साथ ले गए. ये जिंदगी दर्द भी है , दवा भी , दिल तोड़ना ही ना जाने, जाने ये दिल जोड़ना भी, परिवार को प्यार’.

You may also like...