टीम इंडिया को आईसीसी से झटका, रातोरात भारत नंबर वन से तीसरे स्थान पर पहुंचा

कोरोना की वजह से दुनिया में तमाम गतिविधियों पर लॉकडाउन हैं। महामारी की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग चल रहा है । कोई खेल भी नहीं हो रहा है । दुनिया में क्रिकेट के कई सीरीज स्थगित हो  चुके हैं ।  ऐसे हालात में भी आईसीसी का खेल जारी है क्योंकि उसे खेलने की जो आदत पड़ी है । उसका कोरोबार खेल है । इसलिए  कठिन दौर में उसने अपना खेल दिखाया और क्रिकेटिंग नेशन के लिए रैंकिग जारी कर दिया ।

ये सबको भली भांति पता है कि मार्च के शुरुआती हफ्ते के बाद से कोई टेस्ट मैच नहीं खेला गया है । 30 अप्रैल तक टीम इंडिया टेस्ट में नंबर-1 टीम थी । ऐसे में बिना किसी टेस्ट मैच हुए  आईसीसी ने  रैंकिंग का ऐलान कर दिया और भारत एक नंबर से तीसरे नंबर पर पहुंच गया । ऐसा खेल तो हमने पहली बार देखा है । वो भी इंटनेशनल क्रिकेट कॉउंसिल  का । तो मान गए ना आईसीसी कितना बड़ा खिलाड़ी है ।

टीम इंडिया तीसरे नंबर पर

टीम इंडिया अक्टूबर 2016 से आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में पहले स्थान पर है । यह पहला मौका है, जब टीम इंडिया टेस्ट रैंकिंग में पहले पायदान से नीचे उतरी है । वो भी बिना टेस्ट खेले । आईसीसी के नया रैकिंग आज ही यानी 1 मई को आया है । टेस्ट  रैंकिंग में  अब ऑस्ट्रेलिया नंबर-1 टीम बन गई है, न्यूजीलैंड दूसरे पायदान पर है । टीम इंडिया ताज छिनने के साथ ही  नंबर-3 पर पहुंच गई है ।

 कैसे छिना भारत का ताज?

लॉकडाउन में आईसीसी ने रैकिंग के पारामीटर में बदलाव कर दिया । रैंकिंग में  मई 2019 तक  खेले गए मैच को 100 फीसदी का स्टैंडर्ड माना गया है  और इससे दो साल पहले खेले गए मैच को 50 फीसदी माना गया है । इस तरह के कैलकुलेशन में 12 टेस्ट  में मिली भारत के जीत को तरजीह नहीं मिली है । ये जीत 2016-17 का है । वहीं न्यूजीलैंड से मिली हार के बाद टीम इंडिया को भारी नुकसान हुआ है ।

आईसीसी के ताजा टेस्ट रैंकिंग में ऑस्ट्रेलिया 116 प्वॉइंट्स के साथ टॉप पर है । न्यूजीलैंड 115 प्वॉइंट्स के साथ दूसरे पायदान पर है और इंडिया टीम के पास अब 114 प्वॉइंट्स हैं, जबकि लेटेस्ट रैंकिंग में दक्षिण अफ्रीका को सबसे ज्यादा आठ अंकों का नुकसान उठाना पड़ा है, जिसके कारण वो श्रीलंका के नीचे छठे स्थान पर आ गया है। फरवरी 2019 के बाद से दक्षिण अफ्रीका ने नौ में से आठ टेस्ट मैच गंवाए हैं।

हम आपको बता दें कि ये रैंकिंग टेस्ट प्लेइंग नेशन के लिए है , लेकिन कोरोना के बीच रैंकिंग में बदलाव क्रिकेट के जानकारों के गले नहीं उतर रहा है । वहीं कुछ क्रिकेट विशेषज्ञ इसे महामारी के दौर में मन बहलाने का जरिया बता रहे हैं क्योंकि गेम मस्ट गो ऑन ।  

You may also like...