दिल्ली में मजनू का टीला गुरुद्वारा सील, गुरुद्वारा में फंसे करीब 210 लोगों को निकाला गया

राजधानी दिल्ली के मजनू का टीला गुरुद्वारा को खाली कराते हुए उसे सील कर दिया गया। लॉकडाउन के दौरान फंसे हुए सिख समुदाय के लोगों ने गुरुद्वारा में आश्रय लिया हुआ था। बताया जा रहा है कि मजनू का टीला गुरुद्वारे में करीब 210 लोग मौजूद थे।

28 मार्च से मजनू का टीला गुरुद्वारा में फंसे थे लोग

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज को खाली कराने के बाद अब दिल्ली पुलिस ने मजनू का टीला गुरुद्वारा में फंसे करीब 210 लोगों को निकालने की प्रक्रिया शुरू की। दरअसल, निजामुद्दीन मरकज केस में फजीहत के बाद अब दिल्ली पुलिस दूसरा कोई फजीहत नहीं उठाना चाहती लिहाजा दिल्ली पुलिस ने ये कदम उठाया है।

नेहरू विहार इलाके में लोगों को शिफ्ट किया गया

दरअसल देश में लॉकडाउन की वजह से 28 मार्च से उत्तरी दिल्ली के मजनू का टीला गुरुद्वारा में कुछ लोगों ने आश्रय लिया था। अब दिल्ली पुलिस ने गुरुद्वारा में फंसे लोगों को पास ही में नेहरू विहार के एक स्कूल में शिफ्ट कर दिया। लॉकडाउन के दौरान लोगों का पलायन रोकने के लिए दिल्ली सरकार ने अपने स्कूलों को अस्थायी रैन बसेरों में बदल दिया है। 

विदेशी लोग भी गुरुद्वारा में रूके हुए थे

मजनू का टीला गुरुद्वारा में फंसे लोगों में कई विदेशी भी शामिल हैं। दिल्ली पुलिस और पंजाब सरकार के प्रतिनिधियों की ओर से लोगों को निकालने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। गुरुद्वारा में फंसे लोगों को डीटीसी की बसों में बैठाकर नेहरू विहार के एक स्कूल में शिफ्ट किया गया है। इसी स्कूल में क्वारेंनटीन सेंटर भी बनाया गया है।

दिल्ली में पिछले चौबीस घंटे में कोरोना वायरस के 23 नए मामले सामने आने के बाद मंगलवार को संक्रमित लोगों की तादाद बढ़कर 120 हो गई। जिसमें 24 वो लोग हैं जिन्होंने निजामुद्दीन मरकज में एक धार्मिक सभा में भाग लिया था।

You may also like...